स्वच्छ सर्वेक्षण 2023: Swachh Survekshan Ranking List, पुरस्कार 2023

Swachh Survekshan 2023 | Swachh survekshan 2023 ranking list | स्वच्छ सर्वेक्षण 2023 : भारत देश के सभी शहरी और ग्रामीण इलाकों को पूर्ण रूप से स्वच्छ रखने के उद्देश्य से केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी द्वारा सन 2016 में स्वच्छ भारत मिशन की शुरुआत की गई थी। इस मिशन के अंतर्गत सभी शहरी और ग्रामीण इलाकों की स्वच्छता के आधार पर एक सूची और रैंक की तैयार की जाती है। सबसे ज्यादा अंक प्राप्त करने वाले राज्य और शहर को पुरस्कृत किया जाता है और प्रत्येक वर्ष इस सर्वेक्षण और मिशन को परखा जाता है और अपडेट किया जाता है।

swachh survekshan 2023 से जुड़ने के क्या लाभ और विशेषताएं। स्वच्छ भारत मिशन का उद्देश्य, स्वच्छ भारत मिशन रैंकिंग लिस्ट आदि से संबंधित सभी जानकारी यहां पर विस्तार पूर्वक बताई गई है।

Table of Contents

Swachh Survekshan In Hindi – स्वच्छ सर्वेक्षण क्या है

स्वच्छ सर्वेक्षण 2023 को वर्ष 2016 में माननीय हरदीप सिंह पुरी द्वारा लांच किया गया था। ये अब तक का सबसे बड़ा स्वच्छता सर्वेक्षण कार्यक्रम है। जिसके तहत गांव और शहरों को स्वच्छ बनाने के लिए बढ़ावा दिया जाता है। शहर और गांव में रहने वाले नागरिकों को दिशा निर्देश दिए जाते हैं। इस सर्वेक्षण के आधार पर राज्यों को स्वच्छता के आधार पर अंक निर्धारित किए जाते हैं और उन अंकों के आधार पर ही रैंकिंग की जाती है।

Swachh Survekshan 2023
Swachh Survekshan 2023

इसी साल के सरकार द्वारा पुरस्कार रूप में कुछ विभिन्न श्रेणियों के पुरस्कार की घोषणा की गई है जिसके तहत पांच उप श्रेणी आती है जैसे दिव्या, उदित, उज्जवल , अनुपम, आरोही। इसको स्वच्छ भारत मिशन जुड़े एक अभियान के रूप में भी जाना जाता है।

नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट | आवेदकों को रोजाना ₹309 मजदूरी का वादा Nrega Job Card List 2023

Swachh survekshan 2023 का उद्देश्य

सरकार द्वारा स्वच्छ सर्वेक्षण को लागू करने का उद्देश्य यह है कि शहरों और गांव में हो रही साफ सफाई पर ध्यान दे सकें। बढ़ती बीमारियों की दर को कम कर सके। शहर और गांव में रहने वाले लोगों में सफाई के प्रति जागरूकता उत्पन्न कर सकें।

और साथ ही एक सर्वे की मानें तो स्वच्छ सर्वेक्षण 2023 के बाद काफी सारे राज्यों शहरों में बीमारियों की दर और मृत्यु दर में भी काफी ज्यादा गिरावट देखने को मिली है। इसलिए सरकार द्वारा इस सर्वेक्षण पर और ज्यादा ध्यान देने के लिए कहा गया है।

स्वच्छ सर्वेक्षण 2023 के तहत किए जाने वाले कार्य

  • प्लास्टिक से संबंधित वस्तुओं पर प्रतिबंध
  • शहर और गांव की निरंतर साफ सफाई रखना
  • शहर और गांव के विभिन्न जगह पर कूड़ेदान की व्यवस्था करना
  • मुफ्त शौचालयों का निर्माण करना
  • समय-समय पर नदियों और नालों की साफ सफाई करना
  • गांव और छोटे कस्बों में जाकर लोगों को प्रोत्साहित करना

स्वच्छता सर्वेक्षण 2023 लाभ और विशेषताएं

  • इस स्वच्छता सर्वेक्षण 2023 के तहत भारत के सभी छोटे बड़े शहरों और कस्बों सर्वेक्षण किया जाएगा।
  • सर्वेक्षण के आधार पर शहर और गांव को एक रैंकिंग दी जाएगी।
  • इस मिशन के तहत शहर और गांव को पूर्ण रूप से स्वच्छ बनाने के लिए विशेष ध्यान दिया जाएगा।
  • सरकार ने व्यक्तियों की सुविधाओं के लिए इस पोर्टल को पिछले 3 साल से पूर्ण रूप से डिजिटल कर दिया है।
  • इस मिशन के तहत शहरों और गांव में जगह-जगह प्रमुख शौचालय बनाए जाएंगे।
  • कोई भी व्यक्ति पोर्टल पर जाकर अपना फीडबैक या सुझाव भी दे सकता है।
swachh Survekshan benefits
swachh Survekshan benefits
  • swachh survekshan 2023 के तहत जो भी क्षेत्र क्या राज्य भाग लेता है उसे अच्छे अंक प्राप्त करने पर पुरस्कृत भी किया जाएगा।
  • swachh survekshan 2023 के तहत साफ सफाई के लिए सभी शहरों को टोटल 7500 अंकों का आकलन करना होगा।
  • केंद्र सरकार द्वारा जारी किए गए स्वच्छ भारत मिशन अब तक का सबसे बड़ा स्वच्छता अभियान है।
  • इस साल इस मिशन में स्वच्छ टेक्नोलॉजी चैलेंज को भी जोड़ा गया है।
  • इस मिशन के तहत शहरी क्षेत्रों में अब तक 60 लाख से अधिक पब्लिक शौचालय निर्माण किया जा चुका हैं।
  • वर्ल्ड बैंक रिपोर्ट के अनुसार 96% भारतीय जनता इन्हीं टॉयलेट का उपयोग करती है।
  • इस मिशन के तहत 4200 शहर लगभग 6 लाख से अधिक गांव अपने आप को खुले में शौच मुक्त Open defecation free घोषित कर चुकी है।

PM Mudra Loan Yojana: 50 हजार से लेकर 10 लाख तक का लोन , आवेदन प्रक्रिया

Swachh Survekshan 2023 Chhattisgarh

Swachh survekshan 2023 chhattisgarh: इस वर्ष सन् 2023 में भी छत्तीसगढ़ स्वच्छ सर्वेक्षण 2023 के अंतर्गत शीर्ष पर रहा। छत्तीसगढ़ में छोटे शहरों की कैटेगरी में ईस्ट जोन में अपना पहला स्थान प्राप्त किया है और वही देश में दूसरा स्थान प्राप्त किया है।

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने सभी छत्तीसगढ़ वासियों को पुरस्कार से सम्मानित किया है। छत्तीसगढ़ राज्य के प्रशासन और श्रम मंत्री समेत अन्य अधिकारी भी दिल्ली पहुंचे जहां पर उन्होंने केंद्रीय शहरी मंत्री हरदीप पुरी से सम्मान प्राप्त किया और पुरस्कार को ग्रहण किया।

छत्तीसगढ़ में टोटल 8 छोटे बड़े राज्य ने अच्छे अंको को प्राप्त किया है। स्वच्छ सर्वेक्षण के अंतर्गत छत्तीसगढ़ के टोटल 8 शहर आए हैं। छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्य के सभी राज्य वासियों को बधाई दी और यह आश्वासन दिया कि हम आगे भी अपने राज्य को इसी तरीके से अव्वल नंबर पर लाते रहेंगे।

Swachh Survekshan Cleanest City

Swachh survekshan 2023 ranking list के अंतर Swachh Survekshan Cleanest City का खिताब इंदौर सिटी ने हासिल किया है। Swachh survekshan 2023 ranking list में इंदौर सबसे शीर्ष पर रहा है। इसी के साथ मध्य प्रदेश ने Swachh Survekshan Cleanest State का दर्जा प्राप्त किया है। वही दूसरा स्थान नवी मुंबई ने प्राप्त किया है। इंदौर किए ने के अंतर्गत 7146 का स्कोर प्राप्त किया है।

माननीय राष्ट्रपति द्रापत्दी मुर्मू द्वारा मध्य प्रदेश राज्य को पुरुस्कृत किया गया। शिवराज सिंह चौहान ने द्रौपदी मुरमू द्वारा सम्मान प्राप्त किया और वही मध्य प्रदेश की जनता को संबोधित करते जनता का आभार व्यक्त किया और आगे भी इसी प्रकार देश को अव्वल नंबर पर आने की या Swachh Survekshan Cleanest City बनाने की इच्छा जाहिर की।

PM Kisan FPO Yojana: सरकार द्वारा किसान को सीधा 15 लाख का मुनाफा। ऐसे करे आवेदन

Swachh survekshan 2023 ranking list

केंद्र सरकार द्वारा Swach Sarve 2023 के अंतर्गत swachh survekshan 2023 ranking list जारी की गई हैं। swachh survekshan 2023 ranking list में सबसे अव्वल नंबर पर इंदौर शहर है और दूसरे नंबर पर सूरत वही सबसे लास्ट पोजीशन नासिक ने ली हैm आप इसकी कंपलीट लिस्ट को आधिकारिक वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं या नीचे दी गई लिस्ट को भी देख सकते हैं।

  1. Indore
  2. Surat
  3. Navi Mumbai
  4. Vishakhapatnam
  5. Vijayawada
  6. Bhopal
  7. Rajkot
  8. Ahmedabad
  9. Pune
  10. Hyderabad
  11. Raipur
  12. Ghaziabad
  13. Thane
  14. Vadodara
  15. Meerut
  16. Prayagraj
  17. Lucknow
  18. Gwalior
  19. Pimpri-Chinchwad
  20. Nashik

स्वच्छ सर्वेक्षण का लक्ष्य

swachh survekshan 2023 के तहत विशेष तौर पर सभी गांव और शहरों को स्वच्छता के लिए जागरूक किया जाएगा। सूखे और गीले कचरे के लिए अलग-अलग पात्र संगठित किए जाएंगे। इस मिशन का लक्ष्य लोगों को समय-समय पर जाकर स्वच्छता के लिए प्रोत्साहित करना और सरकार द्वारा लागू की गई सभी दिशा निर्देशों का पालन करते हुए गांव और शहरों में शौचालय का निर्माण करना और आदि तरह की सुविधाएं को निर्धारित करना है।

गांव और शहरों में जो जो सुविधाएं और लक्ष्य निर्धारित किए गए हैं, वह नीचे दिए गए है।

स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण लक्ष्य

  • घर के पास गंदा पानी एकत्रित ना हो
  • जल पहुंच जल सुरक्षा
  • सार्वजनिक कचरा निस्तारण
  • सभी ग्रामीणों के लिए मुफ्त शौचालय निर्माण करना
  • शौचालय के उपयोग और साफ सफाई पर विशेष ध्यान देना
  • सभी बाहरी कचरे का निपटान करना

PM Daksh Yojana 2023 | पीएम दक्ष योजना 2023 , Free में प्रशिक्षण दिया जाएगा ।

स्वच्छ सर्वेक्षण शहरी लक्ष्य

  • संचार द्वारा इलाकों में जाकर स्वच्छता का प्रचार करना
  • व्यक्तिगत शौचालय का निर्माण करना
  • खुले में शौच मुक्त बनाना
  • गीले और सूखे कचरे का डिस्ट्रीब्यूशन
  • सामूहिक शौचालय निर्माण

स्वच्छता सर्वेक्षण 2023 | Swachh Survekshan FAQs

Q1. swachh survekshan 2023 ranking list कैसे चैक करे?

अगर आप लिस्ट को डाउनलोड का देखना चाहते है तो आप इसकी अधिकारिक वेबसाइट पर जा सकते है या ऊपर दिए गए स्टेप को फ़ॉलो कर सकते हैं।

Q2. स्वच्छ सर्वेक्षण क्या है?

केंद्र सरकार द्वारा शुरू किया गया एक अभियान है जिसके तरह देश के सभी राज्य ने स्वच्छता के लिए लोगो को प्रेरित करना है।

Q3. स्वच्छ सर्वेक्षण में किन राज्यों को शमिल किया हैं?

स्वच्छ सर्वेक्षण में देश के सभी राज्यों को शमिल किया हैं

Q4. स्वच्छ सर्वेक्षण 2023 में पहले नंबर पर कोनसा राज्य रहा?

स्वच्छ सर्वेक्षण 2023 में पहले नंबर पर इंदौर शहर रहा।

Q5. स्वच्छ सर्वेक्षण के अंतर्गत सबसे गंदा शहर कोनसा है?

स्वच्छ सर्वेक्षण के अंतर्गत सबसे गंदा शहर सासाराम शहर है।

Q6. स्वच्छ सर्वेक्षण UPSC क्या है?

देश के सभी शहरी और ग्रामीण इलाकों को पूर्ण रूप से स्वच्छ बनाने के लिए केंद्रीय शहरी मंत्री हरदीप पूरी जी के द्वारा शुरू किया हुआ एक अभियान है।

Q7. स्वच्छ सर्वेक्षण का क्या उद्देश्य है?

स्वच्छ सर्वेक्षण का उद्देश्य यह है कि शहरों और गांव में हो रही साफ सफाई पर ध्यान दे सकें। बढ़ती बीमारियों की दर को कम कर सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.