Prithvi Vigyan Yojana क्या है? 4797 करोड़ बजट, कैसे मिलेगा देश को लाभ

Prithvi Vigyan Yojana | Prithvi Vigyan Scheme | Prithvi Yojana | पृथ्वी विज्ञान योजना PRITHvi VIgyan- PRITHVI

अभी Check करें ब्रेकिंग न्यूज़ (Breaking News) !!

हमारे भारतवर्ष में आए दिन भूकंप, सुनामी, बाढ़ , तूफान तथा अन्य तरह की प्राकृतिक आपदा आती रहती हैं और इसी तरह की प्राकृतिक आपदाओं को समाधान करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा पृथ्वी विज्ञान योजना की शुरुआत की गई है। इस PRITHvi VIgyan Yojana को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा कैबिनेट की बैठक में मंजूरी दी गई है।

Join Our WhatsApp Group Join Now
Join Our Telegram Group Join Now

योजना के माध्यम से सरकार, भूकंप सुनामी तथा अन्य तरह की प्राकृतिक आपदाओं के आने से पहले उसकी भविष्यवाणी कर पाएगी तथा उसके लिए पहले से इंतजाम कर अपनी सुरक्षा को बेहतर कर पाएगी। इस योजना के लिए केंद्र सरकार द्वारा 4797 करोड रुपए का बजट निर्धारित किया गया है

Prithvi Vigyan Yojana
Prithvi Vigyan Yojana

सरकार ने इस योजना के माध्यम से मौसम को अच्छे से समझने तथा पूरे वातावरण तथा वायुमंडल की भविष्यवाणी करने हेतु एक मॉडल सिस्टम को तैयार किया गया है। इस मॉडल की शुरुआत पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के माध्यम से की गई है। जो की मौसम ,महासागरों, प्राकृतिक आपदाओं चक्रवात और बाढ़ आदि से संबंधित सेवाओं प्रदान करने के लिए जाना जाता है। Prithvi Vigyan Scheme क्या है इस योजना के माध्यम से भारत को कैसे लाभ होगा. योजना के अंतर्गत जुड़ी टेक्नोलॉजी और संस्थाएं सभी की जानकारी यहां पर बताई गई है.

Prithvi Vigyan Yojana Overview

योजना का नामPRITHvi VIgyan- PRITHVI
साल2024
योजना का बजट4797 करोड़
शुरू की गयीकेंद्र सरकार द्वारा
योजना का उद्देश्यसमय से पहले सुनामी ,आपदा, बाढ़ या तूफान आदि की जानकारी देना
ऑफिशियल वेबसाइटअभी जारी नहीं हुई है

Prithvi Yojana Kya Hai

वायुमंडल तथा भूमंडल में विभिन्न प्रकार के परिवर्तनों को देखते हुए पहले से ही प्राकृतिक आपदाओं का अंदाजा लगाने के लिए इस योजना की शुरुआत की गई है। इस योजना के अंतर्गत विभिन्न प्रकार के ऑटोमेटिक सिस्टम को जोड़ा गया है। जो कि आपदा आने से पहले ही संकेत दे सकेगी।

इस योजना के माध्यम से भारत की विभिन्न संस्थाओं को भूविज्ञान अनुसंधान , प्राकृतिक आपदाओं से जुड़ी विभिन्न प्रकार की क्षमताओं को विकसित करने की ट्रेनिंग दी जाएगी। PRITHvi VIgyan Yojana के अंतर्गत भूकंप, जलवायु, मौसम, महासागर, तूफान, सुनामी और बाढ़ आदि का पता किया जा सकेगा। और लोगो को अलर्ट किया जा सकेगा।

अब अपने घर पर लगाए फ्री में सोलर पैनल 25साल तक एकदम मुफ्त बिजली, फ्री सोलर पैनल रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरकर उठाये योजना का लाभ

Prithvi Vigyan Yojana के अंतर्गत मौसम, महासागर, जलवायु वायुमंडल आदि के खतरे को पहले से भाप कर  लोगों को अलर्ट कर उन्हें सुविधा प्रदान की जा सकेगी। इस योजना के अंतर्गत वायुमंडल के संकेत का रिकॉर्ड रखने के लिए विभिन्न प्रकार के टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया गया है। यह टेक्नोलॉजी महासागर भूकंपीय विज्ञान जलवायु मौसम आदि से जुड़ी बड़ी चुनौतियों का समाधान समाधान कर उससे होने वाली हानि का पता लगा सकेगी । इस योजना के अंतर्गत पांच उप योजनाओं को जोड़ा गया है जिसमें ACROSS, PACER, SAGE, REACHOUT और O-SMART शामिल है।

PRITHVI Yojana को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य क्या है।

पृथ्वी प्रणाली और वायुमंडल विज्ञान की समझ में और ज्यादा सुधार लाने तथा देश में प्राकृतिक आपदाओं आने से पहले उसका निवारण करने के उद्देश्य हेतु Prithvi Vigyan Yojana को शुरू किया गया है। इस योजना के माध्यम से मौसम, महासागर, जलवा,यु भूकंपीय विज्ञान तथा अन्य तरह की चुनौतियों का सामना किया जा सकेगा। 

Join Our WhatsApp Group Join Now
Join Our Telegram Group Join Now

अब देश के सभी कारीगर शिल्पकार धोबी मिस्त्री सुंदर आदि को मिलेगा ₹300000 का लोन यहां से ऑनलाइन आवेदन कर उठाये पीएम विश्वकर्मा योजना का लाभ 

वायुमंडल भूमंडल तथा महासागर की एकदम सटीक जानकारी तथा भविष्यवाणी करने हेतु यह एक मॉडल सिस्टम है, जो कि समय से पहले ही उसकी भविष्यवाणी कर लोगों को सचेत कर पाएगा। इस योजना के अंतर्गत बनाए गए मॉडल में विभिन्न प्रकार की टेक्नोलॉजी को विकसित किया गया है जो कि एकदम सटीक भविष्यवाणी देंगे।

Prithvi Vigyan Yojana के माध्यम से एक मॉडल तैयार किया जाएगा जिसके माध्यम से समुद्री संस्थाओं पर विभिन्न प्रकार की सामाजिक प्रौद्योगिकी का विकास किया जाएगा। 

पृथ्वी विज्ञान योजना की लाभ और विशेषताएं 

पृथ्वी विज्ञान योजना की मदद से भारत देश को विभिन्न प्रकार के लाभ और विशेषताएं प्राप्त होंगे 

  • पृथ्वी विज्ञान योजना के अंतर्गत बनाए गए इस मॉडल की मदद से हम पहले से ही मौसम की सटीक जानकारी को प्राप्त कर सकेंगे।
  • मौसम तथा पृथ्वी से जुड़ी विभिन्न प्रकार की सुनामी तूफान तथा आपदाओं का अलर्ट पहले से पता कर पाएंगे।
  • मॉडल बनाने में पांच उप योजनाओं ACROSS, PACER, SAGE, REACHOUT और O-SMART को जोड़ा गया है।
  • समय रहते हम भूकंप तथा सुनामी से बचने हेतु प्रावधान कर पाएंगे।
  • इस Prithvi Yojana के अंतर्गत वायुमंडल तथा भूमंडल, महासागर को समझने के लिए विभिन्न प्रकार के टेक्निकल मॉडल को विकसित किया गया है।
  • पृथ्वी विज्ञान योजना के अंतर्गतमॉडल को सुचारू रूप से विकसित करने के लिए 4797 करोड रुपए का बजट निर्धारित किया गया है।
  • पृथ्वी विज्ञान योजना के माध्यम से वातावरण की जटिल से जटिल गतिविधियों का पता कर सकेंगे।
  • इस PRITHvi VIgyan Yojana मॉडल की मदद से आने वाली पीढियां का भविष्य काफी ज्यादा स्थाई और सुरक्षित बन सकेगा ।

PRITHvi VIgyan- PRITHVI के पांच अहम हिस्से तथा उप-योजनाएं

पृथ्वी विज्ञान स्कीम में विकसित मॉडल को और ज्यादा सटीक बनाने तथा उसकी सेवा में और ज्यादा सुधार लाने के लिए विभिन्न प्रकार के घटकों को शामिल किया गया है। जिसमें कुछ पांच मुख्य हैं। इन पांच टेक्नोलॉजी तथा घटकों के आधार पर ही मौसम तथा भूमंडल की भविष्यवाणी की जाएगी यह सभी घटक एक दूसरे पर निर्भर हैं। जो मॉडल को सुचारू रूप से जारी रखने के लिए अपना पूर्ण योगदान करेगे।

1पोलर साइंस एंड क्रायोस्फेयर रिसर्चPACER
2रिसर्च, एजुकेशन, ट्रेनिंग एंड आउटरिचREACHOUT
3सिस्मोलॉजी एंड जियोसाइंसSAGE
4एटमॉस्फेयर एंड क्लाइमेट रिसर्च-मॉडलिंग ऑबजर्विंग सिस्टम ACROSS
5ओशियन सर्विसेज, मॉडलिंग एप्लिकेशन, रिसोर्सेज एंड टेक्नोलॉजीO-SMART

PM Kisan FPO Scheme के माध्यम से अब भारत के सभी किसानों को मिलेगा सीधा 15 लाभ रुपए का मुनाफा, खाद बीज कृषि आदि में मिलेगा लाभ यहां से प्राप्त करें पूरी जानकारी

पृथ्वी Prithvi Yojana के मॉडल में शामिल अन्य संस्थान

Prithvi Yojana के बना रहे इस मॉडल में भारत की विभिन्न प्रकार की संस्थाओं की हिस्सेदारी रहेगी जो कि इस मॉडल को सुचारू रूप से बने तथा एकदम सटीक भविष्यवाणी करने के लिए मदद प्रदान करेंगे। इसमें टोटल 10 ऐसी अन्य संस्थान होंगी जो की मॉडल में मदद करेगी। और प्राकृतिक आपदाओं का अलर्ट जारी करने तथा लोगों को पहले से सूचित करने हेतु सहयोग करेंगे। इन संस्थाओं की जानकारी नीचे बताई गई है।

1भारतीय राष्ट्रीय महासागर सूचना सेवा केंद्र INCOIS
2भारत मौसम विज्ञान विभागIMD
3राष्ट्रीय महासागर प्रौद्योगिकी संस्थानNIOT
4राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्रNCS
5समुद्री जीवन संसाधन और परिस्थिति की केंद्रCMLRE
6राष्ट्रीय पृथ्वी विज्ञान अध्ययन केंद्रNCESS
7भारतीय उष्णकटिबंधीय मौसम विज्ञान संस्थानIITM
8राष्ट्रीय मध्यम अवधि मौसम पूर्व अनुमान केंद्रNCMRWF
9राष्ट्रीय ध्रुव और महासागर अनुसंधान केंद्रNCPOR
10राष्ट्रीय तटीय  अनुसंधान केंद्रNCCR

Prithvi Vigyan Yojana: FAQs

Q1. PRITHvi VIgyan Yojana क्या है?

पृथ्वी विज्ञान योजना केंद्र सरकार द्वारा भूमंडल तथा वायुमंडल को समझ कर भविष्यवाणी कर लोगों को सचेत तथा अलर्ट जारी करने हेतु शुरू की गई एक योजना है। इस योजना के अंतर्गत टेक्निकल मॉडल को शामिल किया गया है। जो की मौसम की सटीक जानकारी प्रदान करने के लिए सक्षम है।

Q2. पृथ्वी मॉडल योजना की घोषणा कब की गई है?

Prithvi Vigyan Yojana की घोषणा मोदी सरकार द्वारा 5 जनवरी 2024 में की गई है।

Q3. Prithvi Vigyan Yojana मुख्य उद्देश्य क्या है?

पृथ्वी योजना का मुख्य उद्देश्य समय से पहले होने वाले सुनामी ,आपदा, बाढ़ या तूफान आदि की जानकारी देना है।

Q4. पृथ्वी योजना के लिए कितने रुपए का बजट निर्धारित किया गया है?

PRITHvi VIgyan Yojana योजना के लिए 797 करोड रुपए का बजट निर्धारित किया गया है।

Q5. पृथ्वी विज्ञान की शुरुआत किसके द्वारा की गई है?

मौसम संबंधित गतिविधियों को समझने तथा भविष्यवाणी करने के लिए इस योजना की शुरुआत पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के द्वारा की गई है 

Prithvi Vigyan Yojana,scheme,Prithvi Vigyan Yojana,scheme,Prithvi Vigyan Yojana,scheme,Prithvi Vigyan Yojana,scheme,Prithvi Vigyan Yojana,scheme,Prithvi Vigyan Yojana,scheme,Prithvi Vigyan Yojana,scheme,Prithvi Vigyan Yojana,scheme,Prithvi Vigyan Yojana,scheme,Prithvi Vigyan Yojana,scheme,Prithvi Vigyan Yojana,scheme,Prithvi Vigyan Yojana,scheme

Sharing Is Caring:

Content Writer and Web Developer

  Join