पीएम निक्षय पोषण योजना | टीबी से पीड़ित नागरिकों को ₹500 की धनराशि , PM Nikshay Poshan Yojana :

Nikshay Poshan Yojana | पीएम निक्षय पोषण योजना | Nikshay Poshan Yojana 2022: भारत की केंद्र सरकार ने देश के टीबी से ग्रसित नागरिकों के लिए PM Nikshay Poshan Yojana की शुरुआत की है। इस योजना के माध्यम से सरकार टीबी से ग्रसित नागरिकों को अपना इलाज कराने के लिए और बीमारी के दौरान पौष्टिक आहार लेने के लिए प्रति माह ₹500 देकर आर्थिक सहायता करेगी।

टीबी की बीमारी बहुत ही गंभीर है जो लोगों को मौत के मुंह तक ले जाती है इसी बात को ध्यान में रखते हुए सरकार देश के गरीब नागरिकों को इस योजना के तहत इलाज कराने के लिए सहायता दे रही है। Nikshay Poshan Yojana का उद्देश्य, लाभ मापदंड और पात्रता, जरूरी दस्तावेज और पीएम निक्षय पोषण योजना के लिए आवेदन कैसे करें जैसे संबंधित जानकारी आपको यहां बताई गई है।

Table of Contents

PM Nikshay Poshan Yojana In Hindi

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा Nikshay Poshan Yojana की शुरुआत की गई जिसके तहत देश में टीबी से ग्रसित नागरिकों को उनका इलाज कराने और पोस्टिक आहार सही समय में प्राप्त करने के लिए ₹500 की धनराशि प्रतिमाह प्रदान की जाती है। अब तक देश में करीब 13 लाख टीबी के मरीजों को इस योजना का लाभ पहुंचाया जा चुका है, योजना के तहत मिलने वाली धनराशि को पीड़ित के बैंक खाते में सीधे ट्रांसफर किया जाता है और इस योजना का संचालन देश के प्रधानमंत्री के द्वारा किया जा रहा है। सरकार द्वारा टीबी से पीड़ित नागरिकों को दवाइयां भी प्रदान की जाती है।

PM Nikshay Poshan Yojana
PM Nikshay Poshan Yojana

PM Nikshay Poshan Yojana Overview

योजना का नामपीएम निक्षय पोषण योजना
योजना का ऐलानवर्ष 2018
साल2022
लाभार्थीभारत का टीबी से ग्रसित मरीज
शुरू की गयीभारत की केंद्र सरकार के द्वारा
दी जाने वाली धनराशिप्रति माह ₹500
योजना का उद्देश्यटीबी से ग्रसित पीड़ितों को सही समय पर दवाइयां और पोस्टिक आहार उपलब्ध कराना
ऑफिशियल वेबसाइटhttps://nikshay.in/
योजना हेल्पलाइन नंबर1800116666

PM Nikshay Poshan Yojana का उद्देश्य

केंद्र सरकार का पीएम निक्षय पोषण योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य टीबी से ग्रसित पीड़ितों को सही समय पर दवाइयां और पोस्टिक आहार उपलब्ध कराना है। इसके साथ ही देश में टीबी के कारण मरने वाले लोगों की संख्या को कम करना है और साथ ही इस योजना का उद्देश्य है कि सभी मरीजों को बीमारी के दौरान पोस्टिक खाना प्रदान किया जाए जिससे कि वह जल्द ही ठीक हो सके।

PM Nikshay Poshan Yojana के माध्यम से सरकार मरीजों को सहायता प्रदान कर रही है, योजना के तहत मिलने वाली धनराशि से मरीज अपनी जरूरत के हिसाब से धनराशि को खर्च कर सकते हैं, योजना के तहत मिलने वाली धनराशि से सभी पीड़ितों को काफी ज्यादा मदद होगी और वह जल्दी बीमारी से लड़के ठीक हो सकेंगे।

Nikshay Poshan Yojana के लाभ और विशेषताएं

  • पीएम निक्षय पोषण योजना के तहत टीबी से पीड़ित नागरिकों को ₹500 की धनराशि देकर आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • अगर कोई औपचारिक रूप से किसी पीड़ित का इलाज हो रहा है तो उसके इलाज के लिए भी या फिजियोथैरेपी के लिए हजार रुपए दिए जाएंगे।
  • Nikshay Poshan Yojana के संचालन के कारण टीबी से ग्रसित मरीजों की मृत्यु दर कम हुई है।
  • इस योजना के शुरू होने से देश में टीबी से पीड़ित मरीजों की संख्या में कमी आई है।
  • योजना के तहत सरकार द्वारा मरीजों को दवाइयां भी प्रदान की जाती हैं।
  • इस योजना के तहत अब तक 13 लाख मरीजों का इलाज किया जा चुका है।
  • निक्षय पोषण योजना के तहत मिलने वाली धनराशि पीड़ित के बैंक खाते में सीधे ट्रांसफर की जाती है।
  • इस योजना के तहत पीड़ितों को अच्छा खान-पान मिल सके पोस्टिक आहार मिल सके इसके लिए सरकार पैसा देती है।
  • योजना के तहत मिलने वाली धनराशि पीड़ित अपने जरूरत के अनुसार खर्च कर सकता है।
  • इस योजना के सही संचालन से भारत को टीबी मुक्त बनाया जा सकता है।
  • इस योजना के तहत लाभार्थी को हजार रुपए की धनराशि नोटिफिकेशन के दौरान प्रदान की जाएगी उसके बाद से प्रतिमाह ₹500 की राशि प्रदान की जाएगी।
  • इसके अलावा यदि किसी मरीज का इलाज 167 पूरे होने के बाद भी चल रहा है तो ऐसी स्थिति में सरकार की तरफ से उसे हजार रुपए से लेकर 5 हजार तक की धनराशि इलाज के लिए दिया जाएगा।
  • निक्षय योजना के तहत ट्राइबल क्षेत्र के लोगों को ₹750 प्रदान किए जाएंगे क्षेत्र के लोगों को ढाई 250 रुपए किराए और भाड़े के लिए दिया जाएगा।

PMNPY के मापदंड और पात्रता

  • पीएम निक्षय पोषण योजना का लाभ देश के टीबी से ग्रसित मरीजों को ही मिलेगा।
  • जो भी पीड़ित पहले से बीमारी का इलाज करा रहे हैं वह इस योजना का लाभ नहीं उठा सकेंगे।
  • वह मरीज जो इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर पंजीकृत है उन्हें ही योजना का लाभ मिलेगा।
  • इस योजना के तहत राशि का वितरण 167 दिनों के बाद बंद कर दिया जाएगा।
  • अगर किसी मरीज का इलाज 167 दिन के बाद भी चल रहा है तो इसकी जानकारी विभाग में देनी होगी।
  • योजना के तहत ट्राईबल एरिया में रहने वाले नागरिकों को प्रतिमाह ₹750 दिए जाएंगे क्योंकि उनके ट्रांसपोर्ट का खर्चा भी सरकार उठाएगी।

ये भी पढ़िए

PM Nikshay Poshan Yojana के दिशा निर्देश

  • इस योजना के तहत लाभार्थी को बेनेफिशरी आईडी प्रदान की जाएगी जिससे उसकी पहचान होगी।
  • निक्षय पोषण योजना के तहत लाभार्थी को अपने बैंक की सभी जानकारी और पासबुक जमा करना होगा।
  • इस योजना के तहत लाभार्थी को पीएफएमएस के साथ पंजीकृत होना होगा और पीएफएमएस के द्वारा ही एक यूनिक दी जाएगी जो कि पंजीकरण के दौरान जमा होगी।

Nikshay Poshan Yojana के तहत आवेदन अस्वीकृति होने के कारण

  • यदि किसी लाभार्थी का नाम और बैंक अकाउंट एक समान पाया गया तो उसका आवेदन अस्वीकृति किया जाएगा।
  • बैंक खाते का विवरण सही ना होने पर भी आवेदन अस्वीकृत किया जाएगा।
  • बैच आईडी गलत पाने पर भी आवेदन निरस्त किया जाएगा।
  • आधार कार्ड नंबर गलत होने या फिर पीएफएमएस उपलब्ध ना होने पर भी आवेदन निरस्त किया जाएगा।
  • अगर गलत सेंसस कोड प्रदान किया गया तो आवेदन अस्वीकृत किया जाएगा।

PM Nikshay Poshan Yojana के जरूरी दस्तावेज

  • बैंक अकाउंट पासबुक
  • डॉक्टर से मिलने वाला मेडिकल प्रमाण पत्र

Nikshay Poshan Yojana के तहत पीड़ित की सूची और निर्माण का समय

रोगी के बैंक अकाउंट और आधार कार्ड के साथ निक्षय में फेलोशिप और एंट्री की जानकारीआवेदन के दिन की जाएगी
रोगी सूची प्रेपरे करने का दिनमहीने की 1 तारीख को
रोगी सूची के जांच का दिनमहीने की 3 तारीख को
रोगी सूची के अप्रूव होने का दिनमहीने की 5 तारीख को
रोगी को भुगतान करने का दिनमहीने की 7 तारीख को

PMNPY के तहत हेल्थ स्टाफ का कार्य

  • आधिकारिक वेबसाइट पर रोगियों के इलाज की जानकारी पोर्टल पर अपडेट करना।
  • सभी रोगियों का समय पर नामांकन करना।
  • अगर मरीज के पास आधार नहीं है तो उसे आधार नामांकन की सुविधा देना।
  • इस योजना के लिए लोगों के बीच जागरूकता फैलाना।
  • यदि किसी मरीज का बैंक खाता नहीं है तो उसके बैंक का खाता खुलवाने में मदद प्रदान करना।

PMNPY के तहत श्रेणी के अनुसार भुगतान अनुसूची

 ग्रसित मरीजपहला प्रोत्साहनदूसरा प्रोत्साहनतीसरा प्रोत्साहनचौथा प्रोत्साहन
सभी नए पीड़ितों के लिएनामांकन के दौरानआईपी फॉलोअप परीक्षण के 2 माह बाद के लिए  फॉलोअप परीक्षण के बाद 6 माह के अंतराल के लिएNA
सभी औपचारिक पीड़ितों का इलाजनामांकन के दौरानआईपी फॉलोअप परीक्षण के बाद 3 माह के अंतराल के लिएईलाज करने के 5 महीने बाद के लिएफॉलोअप क्लिनिकल परीक्षण के बाद 8 माह के अंतराल के लिए
टीबी से ग्रसित नागरिकनामांकन के दौरानफॉलोअप परीक्षण के 2 माह के अंतराल लिएक्लिनिकल परीक्षण के बाद 4 माह के अंतराल के लिएफॉलोअप सेशन के साथ दौरान 6 माह के हेतु

PM Nikshay Poshan Yojana के तहत आवेदन कैसे करें

PM Nikshay Poshan Yojana registration
PM Nikshay Poshan Yojana registration
  • इसके बाद होम पेज पर यदि आप पहले से रजिस्टर्ड है तो लॉगिन के विकल्प पर क्लिक करें यदि रजिस्टर्ड करना है तो New Health Facility Registration के विकल्प पर क्लिक करें।
  • अब New Health Facility Registration का फॉर्म खुलकर आ जाएगा जहां आपको स्टेट, गवर्नमेंट रजिस्ट्रेशन नंबर, सर्विस प्रोवाइडेड जैसे विकल्पों में हां या ना के बॉक्स पर क्लिक करना है
PM Nikshay Poshan Yojana apply online
PM Nikshay Poshan Yojana apply online
  • इतना करने के बाद कंटिन्यू के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • अब आपको एक यूनिट कोड मिलेगा जिसे आप को सुरक्षित करके रख लेना है।
  • इसके बाद आपको लॉगिन के विकल्प पर जाकर यूजर नेम और पासवर्ड डालकर लॉगिन करना है।
  • इस तरह से आपके PM Nikshay Poshan Yojana Apply Online की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

Nikshay Poshan Yojana के तहत पोर्टल पर लॉगिन कैसे करें

  • PM Nikshay Poshan Yojana Login करने के लिए सर्वप्रथम आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं
  • उसके बाद होम पेज पर लॉगिन के बटन पर क्लिक करके लॉगिन करें।

पीएम निक्षय पोषण योजना FAQs

Q1:- निक्षय पोषण योजना की शुरुआत कब की गई?

इस योजना की शुरुआत वर्ष 2018 में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा की गई।

Q2:- पीएम निक्षय पोषण योजना का लाभ कैसे मिलेगा?

निक्षय पोषण योजना का लाभ देश के टीबी से ग्रसित मरीजों को मिलेगा।

Q3:- इस योजना का हेल्पलाइन नंबर क्या है?

1800116666

Q4:- निक्षय पोषण योजना के तहत मरीजों को कितनी धनराशि दी जाती है?

इस योजना के तहत मरीजों को ₹500 प्रतिमाह धनराशि दी जाती है।

Q5:- निक्षय पोषण योजना का लाभ अब तक कितने मरीजों को लाभ दिया जा चुका है?

इस योजना का लाभ अब तक 3600000 मरीजों को दिया जा चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.