Bihar Madhumakhi Palan Yojana: ऑनलाइन आवेदन, 90% सब्सिडी मधुमक्खी शहद बॉक्स के लिए

Madhumakhi Palan Yojana | बिहार मधुमक्खी पालन योजना | Bee Box Scheme | मधुमक्खी शहद योजना | Madhumakhi Palan Yojana Apply Online | Bihar Madhumakhi Palan Subsidy 2024

अभी Check करें ब्रेकिंग न्यूज़ (Breaking News) !!

पटना जिले के मधुमक्खी पालक किसानों के अच्छे दिन हुए शुरू, दरअसल बिहार सरकार ने अपनी आय को बढ़ाने के लिए एक बड़ी योजना शुरू की है जो फिलहाल Madhumakhi Palan Yojana के नाम से चर्चा में हैं। माना जा रहा है कि बिहार सरकार की इस योजना से मधुमक्खी पालकों को बहुत लाभ मिलेगा, जब वो मधुमक्खी पालन का उद्यम शुरू करते हैं तो सरकार उन्हें एक बड़ी सब्सिडी देगी। आइए हम इस आर्टिकल में इसके बारे में विस्तार से समझने की कोशिश करते हैं..

Join Our WhatsApp Group Join Now
Join Our Telegram Group Join Now
Bihar Madhumakhi Palan Yojana
मधुमक्खी पालन योजना

Bihar Madhumakhi Palan Yojana: Overview

योजनाMadhumakhi Palan Yojana
राज्यबिहार
उद्देश्यमधुमक्खी पालन को बढ़ावा देकर रोज़गार सृजन करना
लाभअधिकतम 50Pcs. Bee Box के ख़रीद पर 90% सब्सिडी
लाभार्थीबिहार के मधुमक्खी पालन
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन आवेदन
कृषि विभाग आधिकरिक वेबसाइटClick

Madhumakhi Palan Yojana क्या है ?

बिहार सरकार ने किसानों की आय को बढ़ाने के लिए एक नई योजना बनाई है, जिसे बिहार मधुमक्खी पालन योजना बताया जा रहा है। इस योजना के तहत किसानों को मधुमक्खी पालन का उद्यम शुरू करने पर 75 से 90 प्रतिशत तक सब्सिडी मिलेगी। सब्सिडी लाभ के लिए अधिकतम 50 मधुमक्खी बॉक्स निर्धारित किए गए हैं। इसका अर्थ है कि पचास से अधिक बॉक्स खरीदने पर भी सब्सिडी नहीं मिलेगी। इसके अलावा मधुमक्खी पालकों को छत्ते भी मिलेंगे, इन छत्तों में ड्रोन, रानी और वर्कर्स के साथ आठ फ्रेम शामिल किया गया है, जो पूरी तरह से ढके होगें।

यदि किसान मधुमक्खी को सही तरीके से पालन करते हैं, तो एक बॉक्स से चालिस किलो तक शहद का उत्पादन हो सकता है। आइए इस तरह समझे, शहद अभी 400 से 500 रुपये प्रति किलो बिक रहा है। किसान इस तरह एक बॉक्स से कम से कम 16 हजार रुपये की कमाई कर सकते हैं। लेकिन मधुमक्खी पालन शुरू करने के लिए किसानों को तीन दिन की ट्रेनिंग जरूर लेनी चाहिए, ताकि वे इस बिजनेस की गतिविधियों को समझ सकें।

बिहार मधुमक्खी पालन योजना का उद्देश्य

Madhumakhi Palan Yojana के उद्देश्य की बात करें तो इसके तहत किसान कम लागत में अधिक पैसे कमाएंगे, क्योंकि बिहार सरकार के कृषि विभाग के उद्यान निदेशालय ने 2200 मधुमक्खी बॉक्स लगाने की योजना को मंजूरी दी है, जो मधुमक्खी पालन और शहद उत्पादन प्रोग्राम में शामिल हैं। मधुमक्खी पालक इससे बहुत कम लागत में अच्छी कमाई कर सकते हैं।

Bee Box Scheme की विशेषताएं

  • बिहार सरकार मधुमक्खी पालन योजना, जिसे Bee Box Subsidy Scheme भी कह सकते है, जिसके तहत बिहार राज्य में मधुमक्खी पालन और शहद उत्पादन को बढ़ावा देना है।
  • मधुमक्खी पालन योजना के अंतर्गत, मधुमक्खी पालक 90% की सब्सिडी प्राप्त कर सकते हैं, जिससे वो Bee Box और अन्य आवश्यक सामग्री ख़रीद कर उत्पादन को बढ़ावा दे सकतें है।
  • Madhumakhi Palan Yojana में मधुमक्खी पालकों को प्रशिक्षण और तकनीकी सहायता प्रदान करती है ताकि वे अपने मधुमक्खी समुदाय को प्रभावी ढंग से प्रबंधित कर सकें और शहद उत्पादन को बढ़ा सकें।
  • मधुमक्खी पालन को बढ़ावा देकर, Madhumakhi Palan Yojana का उद्देश्य पोलिनेशन के माध्यम से कृषि उत्पादकता को बढ़ाना है और शहद उत्पादन के माध्यम से किसानों की आमदनी में वृद्धि करना है।
  • मधुमक्खी पालन योजना का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के अवसर पैदा करना है और राज्य के समग्र आर्थिक विकास में योगदान करना है।
  • सरकार सक्रियता से Madhumakhi Palan Yojana को प्रोत्साहित कर रही है ताकि अधिक से अधिक लोग मधुमक्खी पालन को एक सतत और लाभकारी आजीविका विकल्प के रूप में अपनाएं।

आज भी कुछ जिलों में किसान योजना का लाभ नहीं उठा पाते हैं इसलिए DBT agriculture department Bihar के द्वारा सभी किसानों का रजिस्ट्रेशन किया जाएगा जिससे कि सरकार द्वारा चलाई गई योजना का लाभ उन्हें मिल सके।

बिहार मधुमक्खी पालन योजना
बिहार मधुमक्खी पालन योजना

बिहार मधुमक्खी पालन योजना से क्या और कैसे फ़ायदा होगा ?

यदि सही तरीके से मधुमक्खी पालन किया जाए तो एक बॉक्स में हर साल 40Kgs. शहद बनता है। शहद खुले बाजार में 400 से 500 रुपये प्रति किलो है। मधुमक्खी पालक प्रति बॉक्स 400 से 1000 रुपये खर्च करके 16 से 20 हजार रुपये प्रति वर्ष कमाई कर सकते हैं।

यदि हम Madhumakhi Palan Yojana के तहत मिलने वाले फ़ायदे की बात करें तो, सामान्य जाति को 1,000 रुपये प्रति बॉक्स और SC/ST को 400 रुपये प्रति बॉक्स पर सामान्य जाति के लिए 75% सब्सिडी और एससी-एसटी के लिए 90% निर्धारित की गई है। इसके अलावा मधुमक्खी पालकों को बक्से में भी मधुमक्खी छत्ता मिलेगी। छत्ते में ड्रोन, वर्कर्स और रानी के साथ आठ फ्रेम शामिल किए गए हैं, जो पूरी तरह से ढके होगें।

मधुमक्खी पालन योजना ऑनलाइन आवेदन के लिए पात्रता

  • मधुमक्खी पालकों को मधुमक्खी पालन की पूरी जानकारी होनी चाहिए।
  • पालकों को किसी भी सरकारी संस्था में तीन दिनों की ट्रेनिंग लेना आवश्यक है।

Bakri Palan Yojana में मिलने वाली अनुदान राशि राज्य सरकार के द्वारा पशुपालक वर्गों को 2.4 लख रुपए तक की सब्सिडी प्रदान की जा रही है, जिसमे की सामान्य वर्ग को 50% एवं अनुसूचित जाति एवं जनजाति को 60% का अनुदान सरकार के तरफ से दिया जाएगा।

Join Our WhatsApp Group Join Now
Join Our Telegram Group Join Now
Madhumakhi Palan Yojana
Madhumakhi Palan Yojana Apply Online

Madhumakhi Palan Yojana Apply Online कैसे करें ?

विशेष रूप से, सब्सिडी का लाभ पहले आओ पहले पाओ के सिद्धांत पर दिया जाएगा। यानी पहले अप्लाई करने वाले ही इसका लाभ उठाएंगे। इसके लिए हम आपको बताना चाहता है कि कृषि विभाग जल्द ही उद्यान निदेशालय की वेबसाइट पर इस योजना को अपलोड करेगा। किसान जो इस कार्यक्रम का लाभ उठाना चाहते हैं, वे उद्यान निदेशालय की वेबसाइट पर आवेदन कर सकते हैं। जिसके लिए हमारी राय है कि बिहार मधुमक्खी पालन योजना ऑनलाइन आवेदन के लिए सबसे पहले जानकारी पाने के लिए हमसे जुड़ें रहे।

Lakhpati Didi Yojana 2023 के अंतर्गत महिलाओ को आचार, पापड़, एलईडी बल्ब बनाने, सिलाई कढ़ाई, फूड , पार्लर आदि से जुड़ी ट्रेनिंग के साथ-साथ रोजगार स्थापित करने के लिए 5 लाख रुपए की धनराशि भी दी जायेगी।

Credit: Sarkari Yojana Information

ये भी पढ़े –

Madhumakhi Palan Yojana: FAQs

Q1. मधुमक्खी पालन योजना क्या है ?

बिहर सरकार ने किसानों की आय को बढ़ाने के लिए इस Madhumakhi Palan Yojana को शुरू किया गया है। जिसके तहत मधुमक्खी पालक को Bee Box की ख़रीद पर सब्सिडी दी जाएगी।

Q2. Madhumakhi Palan Yojana के तहत कितने प्रतिशत सब्सिडी मिलेगी ?

मधुमक्खी पालन योजना के तहत बिहार के मधुमक्खी पालक को अधिकतम 50 बी बॉक्स की ख़रीद पर 90% तक अनुदान दिया जाएगा।

Q3. Madhumakhi Palan Yojana Online Registration कैसे करना होगा ?

मधुमक्खी पालन योजना ऑनलाइन आवेदन कृषि विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जा करना होगा, जिसके बारे में विस्तार से ऊपर लेख में बताया गया है।

Sharing Is Caring:

Working for education and society anylisis as Content writer.

  Join